Lok Dastak

Hindi Samachar, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi.Lok Dastak

अंबर पर काली बदली जब छाई…….

1 min read

जब रात ने ली अँगड़ायी ,
चाँदनी रात ने बाँह फैलाई ।
बारात तारों की जगमगायी,
बेहद तब याद तुम्हारी आयी ।

अंबर पर, काली बदली जब छाई,
मेघों से नीर, झमाझम बरसायी ।
होने लगी जिया में, तब अकुलाई,
बेहद तब याद तुम्हारी आई ।

सहर ने पहली किरण, जब आँगन में फैलाईं,
आलोकित कर, भानु ने , छटा बिखराई ।
भरी उमंग मन में , एक तरंग जगाई,
बेहद तब तुम्हारी याद आयी ।

तितलियों ने , बागों की, रंगत सजाई,
भँवरों ने फूलों की, परिक्रमा जब लगाई ।
धीरज मन को, फिर किस बिधी बधाई,
बेहद तब तुम्हारी याद आई ।

—सुमन मोहिनी दिल्ली 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2022 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:-8920664806
Translate »