Lok Dastak

Hindi Samachar, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi.Lok Dastak

बाबा साहब अम्बेडकर का मनाया गया 67वां महापरिनिर्वाण दिवस

1 min read

 

 

अमेठी। संविधान निर्माता बोधिसत्व बाबा साहब डा अम्बेडकर का 67वां महापरिनिर्वाण दिवस जिले में श्रद्धा और सद्भाव के वातावरण में मनाया गया। बाबा साहब डा अम्बेडकर की सभी प्रतिमाओं पर माल्यार्पण, त्रिसरण पंचशील कार्यक्रम और विचार गोष्ठियों के आयोजन नगर से ग्रामीण अंचल तक हुए। सिरमौर बौद्ध विहार सोइया में धम्म देशना और भोजन दान कार्य क्रम आयोजित किया गया। अम्बेडकर कल्याण समिति की ओर से पंचशील धम्म यात्रा निकाली गयी।

नगर स्थित डा अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण का कार्य क्रम सुबह से शाम तक चलता रहा।बहुजन समाज पार्टी ,बामसेफ, भीम आर्मी, अम्बेडकर कल्याण समिति, भारतीय बौद्ध महासभा और वीरांगना झलकारी बाई चेतना समिति के कार्यकर्ताओं ने प्रतिमा के समक्ष दीप जलाए और माल्यार्पण किया।बामसेफ के जिला संयोजक संजीव भारती ने कहा कि राष्ट्र हित को सर्वोपरि रखते हुए बाबा साहब डा अम्बेडकर गरीबों ,पिछडों और कमजोर वर्ग के सशक्तिकरण के लिए जीवन भर लडते रहे।संविधान सभा को भारतीय संविधान सौंपते समय उन्होंने सामाजिक और आर्थिक गैरबराबरी दूर करने के संदेश दिए थे।

बहुजन समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष दिलीप कुमार कोरी ने कहा कि बाबा साहब डा अम्बेडकर को सबसे बड़ी श्रद्धांजलि भारतीय संविधान को ठीक ढंग से लागू कराना है।बहन मायावती इस काम को बखूबी कर रही हैं।बसपा देश के सभी राज्यों मे बाबा साहब डा अम्बेडकर के मिशन को साकार करने के लिये निरंतर संघर्ष रत है।
वीरांगना झलकारी बाई चेतना समिति के अध्यक्ष रामफल फौजी ने कहा कि बाबा साहब डा अम्बेडकर युगपुरुष थे,उनके जीवन संघर्ष का शब्दों मे उल्लेख सम्भव नहीं।बहुजन समाज हमेशा उनका ऋणी रहेगा। जिला सचिव राम अभिलाष बौद्ध, वि स अध्यक्ष लक्ष्मण प्रसाद, संजय कुमार कोरी,कमलेश कुमार, राजेश कोरी,त्रिभुवन दत्त, प्रमोद कुमार, ललित कुमार, बृजेश कुमार, राजेश अकेला, डा उदय राज,हरिश्चंद्र कोरी,सुरेन्द्र कुमार बौद्ध, रवीन्द्र कुमार, शिवकरन गुप्ता आदि मौजूद रहें। सोइया मे बौद्ध भिक्षु भंते प्रज्ञा मित्र और भंते धम्म दीप के मार्ग दर्शन मे त्रिसरण पंचशील ,धम्म देशना कार्य क्रम आयोजित किया गया। बौद्धाचार्य राम प्रताप,हीरालाल,रामकिशोर,डा नन्हे लाल आदि मौजूद रहें।रायदयपुर में सूरज भारती, रवीन्द्र, प्रकाश और शंकर ने अम्बेडकर प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।सरायखेमा में बसपा के सेक्टर प्रभारी रामशंकर दानी के नेतृत्व में महापरिनिर्वाण दिवस मनाया गया। भादर में जनता नगर मे डा अम्बेडकर प्रतिमा पर माल्यार्पण और विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कम्पोजिट विद्यालय भादर मे भी परिनिर्वाण दिवस मनाया गया। इन्द्र पाल गौतम, हरिमूर्ति सिंह, संजीव कुमार, प्रहलाद गौतम, माखनलाल, गजाधर, शिवकुमार, अर्जुन प्रसाद, निहाल चंद, राम जियावन बौद्ध ,घेर्राऊ कोरी ,रामपाल बौद्ध ,रामबली गौतम, बजरंग बहादुर आदि मौजूद रहे।अम्बेडकर पार्क गंगौली में स्थित प्रतिमा पर डा अम्बेडकर सेवा समिति की ओर से त्रिसरण पंचशील कार्यक्रम के बाद संविधान निर्माता बाबा साहब डा भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया गया। इस अवसर पर अमृत लाल,डा नन्हे लाल,राम अधार,दीपा,रीता , उदयराज,गीता आदि मौजूद रहे।
अंबेडकर मार्केट मुंशीगंज,सरायखेमा, सरुवांवा और कोरारी में बडी़ संख्या में लोगों ने डा अम्बेडकर के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित किए और पुष्पार्चन किया।बौद्ध विहार विसुनदासपुर, मंगरा,जनता नगर,नेवढिया और घटकौर मे अम्बेडकर प्रतिमा के समक्ष त्रिसरण पंचशील कार्यक्रम आयोजित किए गये।जामो क्षेत्र के भोलावती गिरधारी शिक्षण संस्थान के संस्थापक हौसिला प्रसाद ने डॉ अम्बेडकर के चित्र पुष्प अर्पित किया। उन्होंने कहा कि अंबेडकर युग प्रवर्तक थे। सामाजिक परिवर्तन और आर्थिक , गैरबराबरी को समाप्त करने के साथ बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने बौद्ध मय भारत के निर्माण का संदेश दिया था। प्रधानाध्यपक विजय भारती ने कहा कि अम्बेडकर ने शिक्षा संगठन व संघर्ष के बल पर आगे बढ़ने की सीख प्रदान की है। बाबा साहब का मार्ग सबके लिए कल्याणकारी है। अनिल कुमार, श्रीमती राजकली, लक्ष्मी जायसवाल, श्रीमती नेहा, अर्बिना बानो, प्रियंका यादव , सुशीला देवी, श्रद्धा तिवारी, अभिनव, अभिभव आदि लोग मौजूद रहे।
महापुर स्थित अम्बेडकर पार्क भारतीय संविधान के शिल्पकार परमपूज्य बाबा साहब अम्बेडकर का 67 बां महापरिनिर्वाण दिवस बड़े धूमधाम से मनाया गया। भंते शील मित्र ने अम्बेडकर मूर्ति के समक्ष भीम वंदना करवाया। इसके बाद अम्बेडकर पार्क महापुर से बाइक रैली निकाली गई जो जामो कस्बे में समाप्त की गई। अम्बेडकर महापरिनिर्वाण दिवस सैकड़ों लोग बाइक रैली में शामिल हुए।इस मौके पर भोए प्रधान श्रीराम बौरासी, गौरीशंकर, गुड्डू पासी, राम सुमिरन, छिटई राम, विजय पासी, आदि सैकड़ों लोग शामिल हुए।

छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च

मंगलवार की शाम राजकीय अनुसूचित जाति छात्रावास के छात्र छात्राओं ने कैंडल मार्च निकाल कर बाबा साहब डा अम्बेडकर को श्रद्धांजलि दी। कैंडल मार्च में नगर के अनुसूचित जाति परिवारों के छात्र छात्राएं भी शामिल हुए। कैंडल मार्च का नेतृत्व शिक्षक और कला प्रवक्ता राजेश अकेला, राकेश बौद्ध और आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष मो इश्तियाक ने किया। कैंडल मार्च के दौरान पुलिस की कडी सुरक्षा व्यवस्था देखी गयी। बच्चा राम वर्मा, रवीन्द्र, प्रकाश,राज ,फूलचंद आदि ने छात्रों का उत्साह बढाया।कम्पोजिट विद्यालय भादर में सभी शिक्षक शिक्षिकाओं ने बाबा साहब डा अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण किया। इं प्र अ संजीव कुमार और स्कूल के दिवस इंचार्ज अवनीश वर्मा, ने बच्चों को डा अम्बेडकर के जीवन दर्शन की जानकारी दी।अतिथि वक्ता समाजसेवी हरिमूर्ति सिंह,ने कहा कि डा अम्बेडकर महान राष्ट्र भक्त थे।

तत्कालीन नेताओं के भारी विरोध को झेलते हुए वे पश्चिम बंगाल से संविधान सभा मे पहुंचे और भारत के लिए दुनिया का सबसे अच्छा संविधान तैयार करके दिया।देवांशु सिंह,दिनेश यादव, शिवकरन, संध्या गुप्ता, लालती देवी,कौशलेंद्र सिंह ,सीता,निर्मला, रिपु मौर्य ,संतोष सिंह, जयदेवी गुप्ता, बलवीर, निर्मला आदि मौजूद रहें।

 

सौजन्य से-वीरेन्द्र यादव 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright ©2022 All rights reserved | For Website Designing and Development call Us:-8920664806
Translate »